Thursday, May 19, 2022
spot_img

जहां एक वसीयत होता है……..

जहां एक वसीयत होता है, वहाँ कोई अस्पष्टता नहीं होतीसोनवी खेर देसाई बताती हैं कि क्यों हर किसी को एक वसीयतनामा बनना चाहिए

 अंग्रेजी दार्शनिक, जॉन लोके ने लिखा है: “प्रत्येक व्यक्ति के भीतर, स्वयं में एक संपत्ति होती है, जिसपर किसी और का नहीं, परंतु स्वयं का अधिकार होता है। हम कह सकते हैं कि उनके शरीर का श्रम और उनके हाथों का काम, पूर्ण रुप से उनका है”। हालांकि, वह आगे एक  नैतिक चेतावनी भी जोड़ते हैं।  हम, संपत्ति के अधिग्रहण की व्याख्या, प्रत्येक आदमी के अधिकार के रूप में कर सकते है, उसके स्वयं के प्रयासों द्वारा, जो पूर्ण रूप से सिर्फ उसका है। जब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो व्यक्ति की संपत्ति कैसे बांटी जाती है? इसका उत्तर, इस बात पर निर्भर करता है कि क्या उसने वसीयतनामा” छोड़ने की दूरदर्शिता की थी- दूसरे शब्दों में, उसकी मृत्यु वसीयत के  साथ हुई या वसीयत के बिना।

                किसी की मृत्यु के बाद संपत्ति के वितरण के लिए, एक वसीयत बनाने की सलाह दी जाती है।  वसीयत, एक कानूनी दस्तावेज है, जिसे  कोई व्यक्ति अपने जीवनकाल में बनाता है,  जिसमें यह निर्देश होता है कि उसकी मृत्यु के पश्चात, उसकी संपत्ति को कैसे वितरित या/ और  प्रबंधित किया जाए। दिलचस्प बात यह है कि वसीयत बनाने की प्रथा का पता यूनानियों ने लगाया था।  प्लूटार्क के अनुसार, सम्पत्ति को किसी व्यक्ति के परिवार द्वारा पूरी तरह से विरासत में प्राप्त किया जाता था, जब तक कि सोलोन ने यह  कानून नहीं बनाया कि कुछ परिस्थितियों में व्यक्ति, अपनी संपत्ति को परिवार के बाहर किसी और को देने की अनुमति  प्राप्त कर सकता है।

                              एक वैध वसीयत की मूल आवश्यकता यह है कि इसे बनाने वाला व्यक्ति स्वस्थचित  होना चाहिए और  वसीयत बनाते वक़्त नाबालिग नहीं होना चाहिए।  इसे, उसके स्वतन्त्र इच्छा शक्ति के साथ बनाया जाना चाहिए।  एक वसीयत के लिए कोई निर्धारित प्रपत्र नहीं है, हालांकि, आमतौर पर, यह सुनिश्चित किया जाता है कि यह एक निश्चित पैटर्न का पालन करता है और यह प्रतियोगिता को रोकने के लिए पर्याप्त है। भारत में, यदि कोई  वसीयत के साथ मारता है, तो उसकी संपत्ति का उत्तराधिकार भारतीय उत्तराधिकार अधिनियम 1925, के तहत, उत्तराधिकारी के किसी भी धर्म के (भले ही मुसलमानों के अलावा कोई भी व्यक्ति अपनी मर्जी से संपत्ति का एक हिस्सा दे सकता है) होने के बावजूद होगा। 

वैध वसीयत कैसे बनायें 
  1. वसीयतकर्ता को यह घोषित करना चाहिए कि वह स्वस्थचित  है और नाबालिग नहीं है।
  2. अगर पहले से कोई वसीयत मौजूद है, तो वसीयतकर्ता को उन सभी वसीयतों को रद्द कर देना चाहिए और तत्काल बनायें गए वसीयत को अंतिम वसीयत घोषित करनी चाहिए।
  3. वसीयतकर्ता को, वसीयत के लिए निष्पादकों को नियुक्त करना चाहिए और अगर मामला एक ट्रस्ट बनाने का हो, तो ट्रस्टी को नियुक्त करना चाहिए।
  4. वसीयत में, वसीयतकर्ता के संपत्ति का विवरण होना चाहिए, जिसमें अचल संपत्ति, बैंक खाते, नकदी, निवेश, आभूषण, अन्य संपत्ति और  बौद्धिक संपदा का वसीयत शामिल है और आज के समय में ईमेल और अन्य डिजिटल खाते और पासवर्ड भी शामिल हैं।
  5. वसीयत में लाभार्थियों का नाम होना चाहिए। यदि कई लाभार्थी है, तो प्रत्येक लाभार्थी को प्राप्त संपत्ति की एक विस्तृत सूची या हिस्सेदारी, स्पष्ट रूप से उल्लिखित होनी चाहिए, जिसमें अवशेष संपत्तियों के लाभार्थी  शामिल हैं, जो विशेष रूप से सूचीबद्ध नहीं है। यदि कोई लाभार्थी नाबालिग है, या स्वस्थचित नहीं है, तो ऐसी संपत्तियों के लिए एक संरक्षक का नाम होना चाहिए।
  6. वसीयत को दो गवाहों की उपस्थिति में दिनांकित और हस्ताक्षरित किया जाना चाहिए।
  7. इसमें गवाहों के नाम, पते और हस्ताक्षर होने चाहिए।

                          यहां यह उल्लेख किया जाना चाहिए कि एच.यू.एफ (हिंदू अविभाजित परिवार) संपत्ति के लिए, अलग-अलग नियम लागू हैं। एक वैध वसीयत को, एक कोडिकल( इस तरह के विल का हिस्सा माना जाने वाला कानूनी दस्तावेज) द्वारा संशोधित किया जा सकता है। इसे वैध वसीयत के समान,  प्रत्येक नियमों का पालन करना चाहिए।

बिना वसीयत की मृत्यु 

                     हर कोई वसीयत नहीं बनाता है और जब किसी व्यक्ति की मृत्यु, बिना वसीयत  बनाएँ  होती है, तो उत्तराधिकार कानून इस प्रकार लागू होता हैं:

  1. हिंदू, सिख, बौद्ध और जैन के मामले में, लागू कानून हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम 1956 है।
  2. मुसलमानों के मामले में, विरासत शरिया कानून द्वारा शासित है।

ईसाईयों,  पारसियों और अंतरजातीय विवाह  के मामले में, विशेष विवाह अधिनियम 1954 के तहत, भारतीय उत्तराधिकार अधिनियम 1925 लागू होगा। 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,116FollowersFollow
4,480SubscribersSubscribe

Latest Articles